URL क्या है और कितने प्रकार होते हैं।URL Kya Hai

हेल्लो दोस्तों,

आप जब भी कोई ब्राउज़र में वेबसाइट open करते है तो सबसे पहले URL देखने को मिलता है।तो क्या आपको पता है कि URL kya hai और URL Kaise Kam Karta hai और उसके प्रकार कितने है।

URL एक माध्यम होता किसी web Page तक पोहचाने में मदद करता है। जैसे आप किसी वेबसाइट में क्लिक करते हो तो उस वेबसाइट का URL आपको एक वेबपेज में ले जाता है।URL के माध्यम से आप किसी भी वेबपेज तक इंटरनेट की मदद से आसानी से जा सकते हो।

आज हर एक इंटरनेट यूजर को URL के बारे में जानना बहुत ही जरूरी है।तो आज आपको URL के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त होने वाली है। तो चलिए सरू करते हैं कि URL kya hai in hindi

URL Kya Hai

किसी भी वेबसाइट का दूसरा नाम या तो पता, जिससे उसे इंटरनेट में जाकर, पहचाना और उपयोग किया को URL कहा जा सकता है। इसे आम तौर हम लिंक भी कह सकते हो। इंटरनेट पर जितने ने भी web page है उनका एक अगल URL देखने को मिल जाता है। कभी भी 2 वेब पेज का URL एक जैसा देखने को मिलता नहीं है।

URL का एक उदाहरण लेके समझें तो जैसे कि गूगल का URL https://www.Google.com/ है। इस URL के माध्यम से आप कोई भी ब्राउज़र से गूगल तक आसानी से पहोच सकते हो।

Internet पर आपको जितनी भी माहिती देखने को मिलती हैं जैसे कि टैक्स्ट फॉर्मेट, इमेज, ग्राफिक्स, वीडियो इत्यादि सभी के URL देखने को मिल जाता है। जिसकी मदद से आप इंटरनेट resources तक आसानी से पहोच सकते हो। तकनीकी भाषा में कहें तो इंटरनेट में जितनी भी वेबसाइट है उन का एक IP address होता है।

सभी वेबसाइट के IP address याद करना बहुत मुश्किल होता है कियू की IP address समय में बदलते रहते हैं, इसलिए किसी भी यूजर को वेबसाइट तक पोहचने में बहुत मुश्किल होती है। तभी तो URL का उपयोग किया जाता है और यह याद रखने में बहुत मुश्किल नहीं है।

URL Full Form in Hindi

URL का पूरा नाम uniform resource locator होता है|

URL के तीन हिस्से कौन से होते है

URL के मुख्य 3 हिस्से यानी भागो से मिलकर एक URL बनता है,

  • URL का पहला हिस्सा एक protocol identifier होता है,तो यह बताता है कि कौन सा प्रोटोकॉल उपयोग किया जाता है। जैसे कि http or https.
  • URL का दूसरा हिस्सा डोमेन होता है और यह बताता है कि कौन से वेबसाइट के सर्वर से डेटा लेना है।
  • URL का 3 हिस्सा डॉक्यूमेंट का भाग और नाम दिखता है।

URL के भाग

मित्रो URL के 4 भाग में देखने को मिलता है तो चलिए इसकी कि पूरी जानकारी प्राप्त करते हैं।

1. http

Internet पर डेटा transfer करने के लिए http Protocol का उपयोग किया जाता है।http को URL से अगल करने के लिए :// उपयोग किया जाता है। बाकी अन्य URL में / के माध्यम से 2 भागो में अगल की जाता है।

2. www

www एक सर्विस कह सकते हैं। इंटरनेट में जितनी भी वेबसाइट है उन सबकी माहिती www में मौजूद होती है। जब भी आप कोई भी URL browser में सर्च करते हो,तो उस URL के related webpage को www के द्वारा ही कोई यूजर को ब्राउज़र पर प्राप्त होता है। बहुत सारी वेबसाइट में www का उपयोग किया जाता नहीं है परन्तु बिना www का URL में भी www में  redirect किया जाता है।

3. Domain name

A domain name, जिसे आप वेबसाइट के नाम से जाना जाता है। हर एक वेबसाइट अगल नाम होता है और एक जैसी नाम वाली वेबसाइट आपको कहीं भी देखने को मिल सकती नहीं है। दूसरे शब्दों में कह के तो डोमेन IP address का Nickname होता है।

डोमेन में आपको com, in, org, net इत्यादि देखने को मिलता है और इन सबसे ज्यादा और Top-level Domain Com होता है। जो कि कमर्शियल वेबसाइट उपयोग करती है।

4. Resource

URL का आखरी भाग Resource का होता है। जिसे यूजर इंटरनेट में ढूंढता है। इसे web page कह सकते हो। यही वह फाइल,फोटो, टेक्स्ट, वीडियो जो की यूजर इंटरनेट पर खोज राह है। किसी भी फाइल के आगे एक extension लगा होता है। जो कि यह बताता है कि यह फाइल किस प्रकार की है।

URL का इतिहास

www (world wide web) के खोज कर्ता Tim Berners Lee ने 90 के दशक में http, HTML और URL कि खोज एक साथ ही किया गया था।tim Berners Lee ने URL कि खोज के साथ ही इंटरनेट में मौजूद हर वेब पेज को एक यूनिक लोकेसन प्रदान किया गया था, जिस कि मदद हर कोई इनटरनेट यूजर किसी भी website तक आसानी से पहोच सकता है।

URL कैसे काम करता है।

अब तक आपको पता चल गया होगा कि URL kya hai तो अब चलिए आपको बताते है कि URL Kaise Kam Karta hai। हर एक वेबसाइट का अपना एक IP address होता है जो एक संख्या के रूप में होता है।

जब भी कोई यूजर इंटरनेट की मदद से ब्राउज़र में किसी भी URL को सर्च करता है तो ब्राउजर URL को DNS  के मदद से उसे IP address में बदल देता है और उस वेबसाइट तक पुहचा देता है जिसे यूजर ने सर्च किया होता है और वेबपेज को यूजर के सामने दिखा देता है।

आपको किसी भी URL से पहले किसी वेबपेज को खोजने के लिए IP address का उपयोग किया जाता है। परन्तु IP address को याद करना बहुत मुश्किल है इसीलिए URL को बनाया गया है। जिसे कोई यूजर internet कि मदद से वेबसाइट तक पहुंच सकता है।

URL के प्रकार

URL के 2 प्रकार आपको देखने को मिल जाते हैं।

1. Absolution URL

2. Relative URL

1. Absolution URL

तो इस प्रकार के URL में आपको डोमेन और दोनों भाग होते हैं। एक absolution URL location के बारे में पूरी जानकारी देता है। यह URL http:// Protocol से जरू होता है और जिसमें हर प्रकार की जानकारी होती है।

2. Relative URL

इस URL में आपको डोमेन नहीं देखने को नहीं मिला है,जिसमें केवल URL का भाग होता है।Relative URL का उपयोग absolute URL को छोटा करने में होता है।

Relative URL का उपयोग किसी फ़ाइल के दिए गए लिंक के Reference में किया जाता है।जो आपको डोमेन में देखने को मिल जाता है।

Secure URL Kya Hai

क्या आपको पता है कि सिक्यॉर URL कि शरुआत https:// होती है। आपको एक बात का ध्यान रखना है कि आप कोई पर्सन माहिती किसी website में देते हो तो वह साइट सिक्यॉर है कि नहीं उस बात आपको ध्यान रखना होगा और अगर आपकी माहिती किसी unsecure Website में देते हो तो आपकी माहिती गलत हाथो में जा सकता है।

URL shortening Kya Hota hai

जब भी आप आपकी वेबसाइट के किसी भी पेज के URL को किसी shortener Tool के द्वारा short URL में बदला जाता है तो यह प्रकिया को URL shortening कह सकते हो।

इंटरनेट में कई सारे tool देखने को मिल जाते है जिसकी कि मदद से आप लोग URL को शॉर्ट URL कर सकते हो। शॉर्ट URL Automatic Main URL Redirect किया जाता है।

Read Also

www kya hai in hindi.

http Kya Hai.

website kya hai.

FAQs

यूआरएल क्या है हिंदी में? URL kya hai

url kya hai सरल भाषा कह तो किसी भी वेबसाइट का दूसरा नाम या तो पता, जिससे उसे इंटरनेट में जाकर, पहचाना और उपयोग किया को URL कहा जा सकता है। 

यूआरएल का पूर्ण रूप क्या होता है?

URL का पूरा नाम uniform resource locator होता है।

यूआरएल कितने प्रकार के होते हैं?

URL का में protocol, www, domain name, resource देखने को मिल जाता है।

यूआरएल कैसे खोला जाता है?

URL Open करने के लिए आपको कोई भी browser को खोलना है। फिर आपको कोई भी चीज सर्च करना है।फिर आपके सामने कई सारे वेबसाइट सामने दिखाई देगी। किसी भी एक website खोले।एक नए tap में एक URL Open हो जाएगा।

निष्कर्ष

तो आज आपने बहुत सारी जानकारी प्राप्त की होगी जैसे कि URL Kya Hai और इसके कितने प्रकार होते हैं इत्यादि जानकारी प्राप्त की है। यह माहिती आपको यूज फूल लगी होगी।

ForumVisit Now
YouTube channelVisit Now
Website HomeVisit Now

आपको URL kya hai के विषय कोई भी प्रश्न हो तो कॉमेंट करके आप जान कर सकते हो और अपने social media में share कर ने कि विनती है।

Thank You…

Leave a comment